क्लस्टर का गठन

सहेली समिति, धौलपुर मे 50 क्लस्टर का गठन किया जा चुका है। जिनमे से 50 क्लस्टर के बैंक मे खाते खोले जा चुके है। एक क्लस्टर मे 8 समूह से लेकर 18 समूह तक की भागीदारी क्लस्टर मे होती है इन क्लस्टर की बैठक मे उस क्लस्टर से जुडी प्रत्येक समूह से दो महिलायें भाग लेती है, और अपने समूह के मुद्दे उस क्लस्टर मीटिंग मे रखते है और समूह की समस्याआें का समाधान करते है। सभी 23 क्लस्टर मे कार्यकारिणी का गठन किया गया है, इस कार्यकारिणीं मे लगभग 8 से 10 तक सदस्य होते जो कि दो दो महिलाये अलग अलग कार्य का निर्वाहन कर रही है जैसे दो महिलायें खेती बाडी का कार्य, दो महिलायें डेयरी का कार्य दो महिलायें लेखा जोखा का कार्य एवं दो महिलायें सामाजिक मुद्दों की जिम्मेदारी लेकर अपने गावॅ मे कार्य करती है। प्रत्येक कार्यकारिणी सदस्य अपने अपने कार्यों का निर्वाहन भलिभांति कर रही है। राज्य सरकार की योजना राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परियोजना के द्वारा 202 समूहों का कॉप्षन हुआ है जिससे एक स्वयं सहायता समूह मे 125000 रू. की राषि क्लस्टर के माध्यम से आर.आर.एल.पी. के द्वारा मिली है उनसे समूह की महिलायें अपने रोजगार के साधन जुटा कर अपने परिवार का काम चला रही है और क्लस्टर से लिये 125000 रू. समय समय पर क्लस्टर मे बापस कर रहे है। आज क्लस्टर एक मिनी बैंक का कार्य कर रहा है। आज कुछ क्लस्टर तो अपनी मासिक बचत भी कर रहे है।

हमारे भागीदार