अन्य कार्य

ग्रामीण बेरोजगार नवयुवको को रोजगार के अवसर प्रदान कराना

सहेली समिति के माध्यम से ग्रामीण बेरोजगार युवको को आर.आर.एल.पी. योजना के तहत ग्रामीण नवयुवको को कम्प्यूटर एवं सीक्यूरिटी गॉर्ड के प्रशिक्षण कराकर उनको रोजगार के अवसर प्रदान करवाया गया।एवं सी.एम.एफ. से एक व्यक्ति को माईक्रो क्रेडिट लिंकेज का तीन माह को कोर्स करवा कर उस व्यक्ति को सखि सहेली समिति बाडी मे रोजगार दिलवाया गया है।

समूह की महिलाओं को सूक्ष्म जीवन बीमा योजना से जोडना

सहेली समिति के द्वारा स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को सूक्ष्म जीवन बीमा योजना से जोडा है । सहेली समिति के द्वारा लगभग 375 महिलाओं को जीवन बीमा योजना से जोडा जा चुका है। इसी प्रकार पशुराहत कोष से लगभग 55 पशुओं का बीमा सहेली समिति के द्वारा किया जा चुका है। जिसमे 2 पशुओं की मृत्यु हो जाने पर उनको पशुराहत कोष को नियमानुसार बीमा क्लेम राशि का भुगतान किया जा चुका है।

ग्रामीण महिलाओं को साक्षरता के प्रति जागरूक करना

ग्रामीण असाक्षर महिलायें जो कि अपना नाम लिखना नही जानती थी। जब वह महिलायें हस्ताक्षर करती थी तो पूरा रजिस्टर अंगूठा लगा कर नीला कर देती थी। इस स्थिती को देखते हुये संस्था ने सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को साक्षर बनाने हेतु वीणा उठाया और सभी महिलाओं को उनका नाम लिखना सिखाया । आज स्थिती यह है कि समूह की 90 प्रतिशत महिला अंगूठा नही लगाती है वह अपना नाम लिखना सीख गई है। अपने बच्चों का स्कूल पढने के लिये भेज रही है।

हमारे भागीदार